GovernmentJyotishUttar Pradesh

किसी भी सोशल मीडिया के पोस्ट पर यकीन करने से पहले पुष्टि अवश्य कर ले

जो भी कोविड-19 संक्रमण संबंधी जानकारी होगी प्रदेशवासियों को प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी जा रही है

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि:

प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर कोविड-19 के संबंध में भ्रामक खबरे फैलायी जा रही है, किसी भी सोशल मीडिया के पोस्ट पर यकीन करने से पहले इसकी सत्यता की पुष्टि अवश्य कर ले

प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिदिन कोविड-19 से संबधित अपडेट जारी किये जाते है

जो भी कोविड-19 संक्रमण संबंधी जानकारी होगी प्रदेशवासियों को प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी जा रही है

प्रदेश में शादी समारोह में बैण्ड व डीजे बजाने पर कोई रोक नहीं है

शादी विवाह के लिए किसी प्रकार की अनुमति की आवश्यकता नहीं है, केवल स्थानीय पुलिस थाने में सूचित करना समुचित है

इस समय सभी लोगों को विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है मास्क पहनें, हाथ धोते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग रखें तथा भीड़भाड़ से दूर रहें

प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां और अधिक तेजी से बढ़ें, इसके लिए प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है

रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए तथा आर्थिक गतिविधियां को और बढ़ाने के लिए सरकार के प्रोत्साहन से नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयां खुल रही है

आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाईयों को रू0 10,854 करोड़ के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत कर वितरित

प्रदेश में रोजगार के नये अवसर उपलब्ध कराने के लिए 6.46 लाख नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांें को 19,550 करोड़ रूपये का ऋण दिया गया है

नई एमएसएमई इकाईयों से ही लगभग 25 लाख लोगों को रोजगार मिला है

किसानों के धान की खरीद समय से हो तथा उन्हें
धान व मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले

धान और मक्का की खरीद का भुगतान 72 घंटे के अन्दर सुनिश्चित किया जाये

किसानों को किसी प्रकार की समस्या न होे तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करे

धान क्रय केन्द्र पर शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी

धान क्रय केन्द्रांे पर जिलाधिकारी द्वारा निरन्तर अनुश्रवण तथा आकस्मिक निरीक्षण करे

किसानों से निरन्तर धान की खरीद की जा रही है

अब तक किसानों से 179.52 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है, जो पिछले वर्ष से डेढ़ गुना से भी अध्कि है

अब तक किसानों से 1,80,791.50 कु0 मक्का की खरीद की जा चुकी है, जो गत वर्षों से काफी अधिक है -श्री नवनीत सहगल

प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,65,551 सैम्पल की जांच की गयी

प्रदेश में अब तक कुल 1,86,36,313 सैम्पल की जांच की गयी

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 2237 नये मामले आय

प्रदेश में 25,422 कोरोना के एक्टिव मामले हैं

होम आइसोलेशन में 12,443 लोग है

निजी चिकित्सालयों में 2195 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त बाकी मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे है

प्रदेश में अब तक कुल 5,02,353 लोग कोविड-19 से ठीक होकर पूर्ण उपचारित हो चुके हैं

प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 4,66,018 टीम दिवस के माध्यम से 2,94,22,268 घरों के 14,38,85,835 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया

ई-संजीवनी के माध्यम से 2981 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया

अब तक कुल 2,29,163 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श लिया

सरकारी संस्थान, प्रमुख कार्यालय, प्रतिष्ठान, औद्योगिक इकाईयों में 65,448 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित

कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से 1,00,622 व्यक्तियों में लक्षणात्मक चिन्हांकन किया गया

मा0 मुख्यमंत्री जी ने कोविड-19 की मेडिकल टेस्टिंग के कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश दिये

मेडिकल टेस्टिंग के कार्य में 40 प्रतिशत टेस्ट आर0टी0पी0सी0आर0 के माध्यम से तथा शेष 60 प्रतिशत टेस्ट रेपिड एन्टीजन के माध्यम से किये गये

मा0 मुख्यमंत्री जी ने आई0सी0यू0 बेड की संख्या को और बढ़ाने के निर्देश दिये

सितम्बर माह के महीने में एक एक्साइज 11 जनपदों में सिरों सर्विलांस की गयी थी जिसमें जिन जिलों में ज्यादा संक्रमण था वहां सिरो सर्विलांस किया गया था,

ऐसे जनपदों से 16 हजार से अधिक ब्लड सैम्पल लेकर उसकी जांच के0जी0एम0यू0, लखनऊ द्वारा जांच करायी गयी थी,

श्री प्रसाद ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि सभी जनपदों में इन्ट्रीगे्रटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्साधिकारी इन्ट्रीगे्रटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर में प्रतिदिन अनिवार्य रूप से समीक्षा बैठक करने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने बताया कि सितम्बर माह के महीने में एक एक्साइज 11 जनपदों में सिरों सर्विलांस की गयी थी। जिसमें जिन जिलों में ज्यादा संक्रमण था वहां सिरो सर्विलांस किया गया था, ऐसे जनपद जिनमें आगरा, बागपत, गोरखपुर, गाजियाबाद, कानपुर नगर, लखनऊ, कौशाम्बी, मेरठ, मुरादाबाद, प्रयागराज तथा वाराणसी में 16 हजार से अधिक ब्लड सैम्पल लेकर उसकी जांच के0जी0एम0यू0, लखनऊ द्वारा जांच करायी गयी थी, कि कितने लोगों में एन्टीबाॅडी पायी जा रही है। उन्होंने कहा कि बचाव से ही कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि विशेषकर बच्चे, बुजुर्ग, महिलाएं तथा बीमार व्यक्तियों को संक्रमण से दूर रखकर कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बचाया जा सकता है।

Related Articles

Back to top button
Event Services