Sports

रैना ने बताया कि क्यों चुना रिटायरमेंट के लिए 15 अगस्त का दिन

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और साथी क्रिकेटर सुरेश रैना की गहरी दोस्ती हम सभी को मैदान के अंदर और बाहर देखने मिली है। दोनों बेहद अच्छे दोस्त रहे हैं और उनकी मैदान पर और बाहर केमिस्ट्री काफी अच्छी रही है।

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और साथी क्रिकेटर सुरेश रैना की गहरी दोस्ती हम सभी को मैदान के अंदर और बाहर देखने मिली है। दोनों बेहद अच्छे दोस्त रहे हैं और उनकी मैदान पर और बाहर केमिस्ट्री काफी अच्छी रही है।

धोनी ने 15 अगस्त की शाम को इंटरनेशनल क्रिकेट को इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करते हुए अलविदा कह दिया और उसके कुछ समय बाद ही सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में सुरेश रैना टीम इंडिया के लिए भी खेल चुके हैं और आईपीएल फ्रेंचाइजी टीम चेन्नई सुपर किंग के लिए भी उनकी कप्तानी में खेलते हैं। रैना ने बताया कि रिटायरमेंट की घोषणा के बाद हम दोनों गले मिले और दोनों मिलकर खूब रोये।

रैना ने एक इंटरव्यू में बताया कि वह जानते थे कि धोनी चेन्नई पहुंचने के बाद संन्यास की घोषणा करेंगे और इसके लिए मैं तैयार भी था। रैना के रिटायरमेंट के बारे में किसी ने सोचा भी नहीं था क्योंकि उनकी उम्र महज 33 साल है।

रैना ने कहा कि अपने संन्यास की घोषणा के बाद हम दोनों गले मिले और खूब रोए। मैं, पीयूष, अंबाती रायडू, केदार जाधव और कर्ण शर्मा सभी लोग साथ में बैठे थे। फिर हम सभी ने अपने करियर और दोस्ती के बारे में काफी देर तक बातचीत की। उस रात हम हमने पार्टी भी की।

आखिर क्यों चुना 15 अगस्त का ही दिन

रैना ने बताया कि धोनी का जर्सी नंबर 7 है और मेरा 3, और हम सभी जानते हैं कि 15 अगस्त 2020 को हमने 74th स्वतंत्रता दिवस मनाया। इस दिन भारत ने आजादी के 73 वर्ष पूरे किए तो हमने सोचा कि हम क्यों ना हम भी इसी मौके पर अपने संन्यास की घोषणा करें। इसी कारण से हमने अपने संन्यास की घोषणा के लिए 15 अगस्त का दिन चुना।

किसी भी प्रकार के कवरेज के लिए संपर्क @adeventmedia:9336666601- 
अन्य खबरों के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें।
आप हमें ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं.
हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button