National

क्या है Land For Job Scam, जिसके चलते राबड़ी देवी से पूछताछ कर रही CBI; पूरा लालू परिवार जद में

नई दिल्ली, Land for Job Scam in Bihar बिहार की राजनीति में इस वक्त सबसे ज्यादा चर्चा लैंड फॉर जॉब घोटाले की हो रही है। दरअसल, सीबीआई ने पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव और राबड़ी देवी के घर छापा मारा है। सीबीआई राबड़ी से मामले से जुड़े सवाल कर रही है। जमीन के बदले नौकरी देने के इस मामले में एजेंसी ने कार्रवाई की है। बता दें कि मामले में कोर्ट द्वारा लालू, राबड़ी और बेटी मीसा भारती सहित 14 आरोपियों को 15 मार्च को पेश होने के लिए समन भी जारी हो चुका है। आइए, जानें आखिर ये घोटाला है क्या और पूरा लालू परिवार इसकी जद में क्यों है…

जमीन के बदले नौकरी घोटाला क्या है?

लालू यादव द्वारा किए गए इस घोटाले का पूरा मामला रेलवे भर्ती से संबंधित है। मामले में लालू पर वर्ष 2004 से 2009 तक यूपीए सरकार में रेल मंत्री रहते हुए उनके और परिवार द्वारा जमीन के बदले लोगों को नौकरी देने का आरोप है। सीबीआई द्वारा मामले में लालू के साथ उनके परिवार पर भी केस दर्ज किया गया है और आरोप है कि लालू ने परिजनों के नाम पर नौकरी के बदले जमीनें रिश्वत में ली थी।

jagran

बिना विज्ञापन जारी किए नौकरी दी

लालू पर आरोप है कि उन्होंने रेल मंत्री रहते हुए ही बिना कोई विज्ञापन जारी कर रेलवे में ग्रुप-डी की नौकरी के लिए कई लोगों की भर्ती की थी। मामले में यह भी साफ हुआ कि जिन लोगों को ये नौकरी मिली उन्हें अपनी जमीन तक देनी पड़ी। कई लोगों को तो आवेदन देने के 3 दिन में ही नौकरी दे दी थी। इसके तहत लोगों को जबलपुर, मुंबई, छत्तीसगढ़ और जयपुर आदि जगहों पर लगाया गया था। 

12 लोगों से लालू ने परिजनों के नाम करवाए 7 प्लॉट

सीबीआई के अनुसार, लालू यादव ने मंत्री रहते हुए जिन लोगों को नौकरी दी उनसे रिश्वत में जमीन ले ली। लालू ने पत्नी राबड़ी और बेटी मीसा समेत कई परिजनों के नाम पर इन प्लॉट को लिया। सीबीआई के अनुसार आरजेडी नेता ने नौकरी के नाम पर 12 लोगों से 7 प्लॉट सस्ते में या बिना कुछ दिए हासिल कर लिए।

jagran

कई लोगों पर सीबीआई के छापे

इस घोटाले को लेकर सीबीआई कई बार लालू समेत उनके करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी कर चुकी है। सीबीआई लालू के बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के गुरुग्राम मॉल, सांसद अशफाक करीम, फैयाज अहमद, MLC सुनील सिंह और सुबोध राय के ठिकानों पर छापे मार चुकी है। अब राबड़ी देवी से इसी मामले में सीबीआई पूछताछ कर रही है। बता दें कि मामले में राजद के पूर्व विधायक भोला यादव गिरफ्तार भी हो चुके हैं।

4 करोड़ से ज्यादा की जमीन 26 लाख में हथियाई

लालू पर आरोप है कि उन्होंने लैंड फॉर जॉब घोटाले में बिहार के लोगों को ही नौकरी दी और करीब 4 करोड़ की जमीन 26 लाख में परिजनों के नाम करवा ली। ये सारे प्लॉट कुल मिलाकर करीब एक लाख स्क्वायर फीट से भी ज्यादा के थे।

IRCTC घोटाले से अलग है ये मामला

बता दें कि रेलवे भर्ती घोटाला IRCTC घोटाले से अलग है। आईआरसीटीसी घोटाला भी लालू के रेल मंत्री रहते हुए 2004 में होने का आरोप है। 2004 में रेलवे बोर्ड द्वारा IRCTC को रेलवे की कैटरिंग और होटलों की सेवा का पूरा जिम्मा सौंप दिया गया था। आरोपों के अनुसार, इस दौरान रांची के बीएनआर होटल की सेवा और विकास कार्यों के लिए जारी टेंडर में कई अनियमिताएं हुई थी। 

आरोप है कि इस टेंडर को पाने वाले एक प्राइवेट होटल से लालू ने रिश्वत ली थी। आरोप है कि होटल मालिकों ने लालू को पटना में कई एकड़ जमीन भी दी थी।

किसी भी प्रकार के कवरेज के लिए संपर्क AdeventMedia: 9336666601

अन्य खबरों के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें।

आप हमें ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं.

हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
Event Services