Health

डाइट में इन 5 चीजों को जरूर शामिल करें

इसमें कोई शक नहीं है कि बेहतरीन दिनचर्या से कैंसर का खतरा कम हो जाता है। कई शोध में खुलासा हो चुका है कि कैंसर का संबंध ख़राब दिनचर्या से भी है। खासकर अनुचित खानपान और शारीरिक श्रम नहीं करने के चलते कई बीमारियां दस्तक देती हैं। इनमें कैंसर भी शामिल है। सही दिनचर्या और उचित खानपान बीमारियों से लड़ने और स्वस्थ होने में अहम भूमिका निभाते हैं। कैंसर के शुरूआती लक्षणों का पता चलने पर डॉक्टर्स से संपर्क करना चाहिए। इसका इलाज संभव है। हालांकि, लापरवाही बरतने पर यह बीमारी जानलेवा साबित हो सकती है। इसके लिए जरूरी है कि दिनचर्या में सुधार करें और खानपान पर विशेष ध्यान दें। विशेषज्ञों कैंसर से बचाव के लिए डाइट में कई चीजों को शामिल करने की सलाह देते हैं। अगर आपको नहीं पता है, तो आइए जानते हैं-

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर चीजें

एंटीऑक्सिडेंट्स सेल्स यानी कोशिकाओं की सुरक्षा करते हैं। आसान शब्दों में कहें तो एंटीऑक्सीडेंट असंतुलित अणुओं के चलते सेल्स को होने वाली क्षति से बचाता है। बीटा-कैरोटीन, विटामिन-ए,सी, ई और लाइकोपेन ये सभी एंटीऑक्सीडेंट हैं। इसके लिए एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर फल और सब्जियों का सेवन जरूर करें।

नट्स, अलसी, तिल, कद्दू के बीज, सूर्यमुखी के बीज, तिलहन मछली जैसे साल्मन, टूना, हेरिंग आदि में ओमेगा-3 पाया जाता है। ओमेगा-3 कोशिका संकेत और कोशिका संरचना और झिल्लियों की तरलता में एक आवश्यक भूमिका निभाता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी के गुण पाए जाते हैं जो सूजन को कम करने में सहायक होते हैं।

कई शोध में दावा किया गया है कि नियमित रूप से लहसुन के सेवन से DNA की मरम्मत और कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को धीमा करने और सूजन को कम करने में मदद मिलती है। लहुसन में एलिसिन पाया जाता है जो कैंसर बीमारी से रक्षा करता है। ब्रोकली, पत्ता गोभी, ग्रीन टी, सोयाबीन, टमाटर, गाजर, प्याज, चुकंदर, लाल अंगूर और साइट्रस फ्रूट्स एंटी कैंसर माने जाते हैं। इसके लिए डाइट में इन फल और सब्जियों को जरूर शामिल करें।

इसमें बायोएक्टिव पॉलीफेनोल्स, फ्लेवोनोइड्स और सैपोनिन पाए जाते हैं जो एंटी कैंसर की तरह काम करते हैं। इसके लिए करेला का सेवन अधिक से अधिक कर सकते हैं।

इसमें फ्लेवोनोइड्स और फेनोलिक्स जैसे तत्व पाए जाते हैं जो एंटी कैंसर की तरह काम करते हैं। इसके लिए गेंहू के आटे का चोकर का सेवन कर सकते हैं। डॉक्टर्स हमेशा कैंसर से बचाव के लिए चोकर खाने की सलाह देते हैं।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Related Articles

Back to top button
Event Services