Uttar Pradesh

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के बलिदान दिवस पर अर्पित की गयी भावभीनी श्रद्धांजलि

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के बलिदान दिवस (30 जनवरी) के मौके पर आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पूर्वान्ह 10.59बजे सायरन बजते ही कांग्रेस के वरिष्ठ एवं पूर्व सांसद श्री प्रमोद तिवारी जी के नेतृत्व में वरिष्ठ नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने दो मिनट मौन रखकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी।

इस अवसर पर मध्यान्ह एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता पूर्व विधायक श्री श्यामकिशोर शुक्ल ने की तथा संचालन प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता बृजेन्द्र कुमार सिंह ने किया। सर्वप्रथम सभी नेताओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया।

तदुपरान्त मुख्य अतिथि के रूप में विचार गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस विधान परिषद दल के नेता श्री दीपक सिंह ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के मूल्यों और आदर्शों की आज पूरी दुनिया में पूजा हो रही है। लेकिन बड़े दुःख की बात है कि मौजूदा सरकार के समर्थन में कुछ ऐसे तत्व हैं जो राष्ट्रपिता की हत्या करने वाली विचारधारा का संरक्षण करते हैं। जबकि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी ने पूरी दुनिया और मानवता को बड़ी से बड़ी लड़ाई जीतने के लिए तीन बड़े अस्त्र उपलब्ध कराये हैं। सत्य के प्रति आग्रह करना(सत्याग्रह), सविनय पूर्वक अवज्ञा(सविनय अवज्ञा), करो या मरो। आज सबसे ज्यादा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के विचार प्रासंगिक हैं क्योंकि आज भारत की आधी आबादी सरकार के खिलाफ सविनय अवज्ञा के तहत राजधानी के बार्डर पर सड़कों पर बैठी है। वह हमारे अन्नदाता किसान हैं। ऐसे में जब पूरी मानवता और पूरी दुनिया गांधी जी के मूल्यों और आदर्शों को स्वीकार करते हुए संरक्षण करती है तो मैं अपनी सरकार से विनती करता हूं कि वह भी हमारे अन्नदाता किसानों की सुनें और उनके खिलाफ बनाये गये तीन कृषि कानूनों को वापस लें।

संगोष्ठी में विचार विभाग के चेयरमैन श्री सम्पूर्णानन्द मिश्र ने कहा कि मौजूदा माहौल को देखकर यह अंदाजा लगाना बहुत सहज हो जाता है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी ने कितने कठिन और मुश्किल हालात में हमें आजादी दिलायी।

संगोष्ठी में अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में पूर्व विधायक श्री श्याम किशोर शुक्ला ने कहा कि हमारी कांग्रेस पार्टी का गौरव है कि 135 वर्ष के इतिहास में तथा आजादी के इन 73 वर्षों में तमाम अच्छे-बुरे दौर पार्टी के सामने आये लेकिन कांग्रेस पार्टी ने कभी भी गांधीवादी मूल्यों, आदर्शों से कोई समझौता नहीं किया। हालात जरूर मुश्किल हैं लेकिन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के बताये गये रास्ते से ही देश आगे बढ़ सकता है और एकजुट रह सकता है। गांधी जी के बताये रास्ते पर चलने का संकल्प लेने की आवश्यकता है।

संगोष्ठी में उ0प्र0 कांग्रेस जनव्यथा निस्तारण समिति के सचिव श्री संजय शर्मा, शहर अध्यक्ष श्री मुकेश सिंह चैहान, जिलाध्यक्ष श्री वेद प्रकाश त्रिपाठी, प्रवक्ता श्री उबैद उल्ला नासिर, श्री बृजेन्द्र कुमार सिंह आदि कांग्रेसजनों ने अपने विचार व्यक्त किये।

विचार गोष्ठी एवं श्रद्धांजलि सभा में प्रमुख रूप से प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी प्रशासन श्री सिद्धार्थ प्रिय श्रीवास्तव, श्री दिनेश सिंह एवं श्री अनूप गुप्ता, श्री ओ0पी0 चैबे, श्री पुष्पेन्द्र श्रीवास्तव, श्री इरशाद अली, श्रीमती सुशीला शर्मा, श्रीमती माया चैबे, श्रीमती विभा त्रिपाठी, श्री आर0एस0 तिवारी, श्री एस0बी0 मिश्रा, श्री अयूब सिद्दीकी, श्री राम यादव, श्री अन्नू सोनी सहित सैंकड़ों की संख्या में कांग्रेसजन मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Event Services