Education

हिंदी हमारा गौरव …

हिंदी हमारा गौरव ...

बरेली ! संध्या ठाकुर…
भारत भर में बोली जाने वाली हिन्दी भाषा पूरी दुनिया के लिए गौरव की भाषा है। इसके बिना जग सूना है। अत: हम सभी को हिंदी का गौरव बरकरार रखने के लिए हमारी राष्ट्रभाषा का पूरी तरह समर्थन करना चाहिए।
– भारत में अनेक उन्नत और समृद्ध भाषाएं हैं किंतु हिन्दी सबसे अधिक व्यापक क्षेत्र में और सबसे अधिक लोगों द्वारा समझी जाने वाली भाषा है।
– हिन्दी केवल हिन्दी भाषियों की ही भाषा नहीं रही, वह तो अब भारतीय जनता के हृदय की वाणी बन गई है।
– सर्वोच्च सत्ता प्राप्त भारतीय संसद ने देवनगरी लिपि में लिखित हिन्दी को राजभाषा के पद पर आसीन किया है। अब यह अखिल भारत की जनता का निर्णय है।
– संसार में चीनी के बाद हिन्दी सबसे विशाल जनसमूह की भाषा है।
– प्रांतों में प्रांतीय भाषाएं जनता तथा सरकारी कार्य का माध्यम होंगी, लेकिन केंद्रीय और अंतरप्रांतीय व्यवहार में राष्ट्रभाषा हिन्दी में ही कार्य होना आवश्यक है।
– इसलिए हमारी इस राष्ट्रभाषा के बिना राष्ट्र गूंगा है। अत: राष्ट्र के गौरव का यह तकाजा है कि उसकी अपनी एक राष्ट्रभाषा हो। कोई भी देश अपनी राष्ट्रीय भावनाओं को अपनी भाषा में ही अच्छी तरह व्यक्त कर सकता है।
किसी भी प्रकार के कवरेज के लिए संपर्क @adeventmedia:9336666601- 
अन्य खबरों के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें।
आप हमें ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं.
हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button