Uttar Pradesh

वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से श्रम कल्याण परिषद के कार्यों की हुई समीक्षा

  लखनऊ दिनांक: 14 जुलाई, 2020
उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष श्री सुनील भराला ने परिषद द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ पात्र श्रमिकों को समय से मिले, इसके लिए समस्त क्षेत्रीय उप श्रमायुक्त को निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि निर्धारित तिथि 31 दिसम्बर, 2020 तक पात्र श्रमिकों के आवेदन पत्र आॅनलाइन जमा करायें, इसमें हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जायेगी। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि उ0प्र0 में स्थापित 20,500 कारखाने एवं 06 लाख 50 हजार अधिष्ठान व प्रतिष्ठान के श्रमिकों को इन योजनाओं का लाभ दिलाने के प्रयास किये जाएं।
श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष श्री सुनील भराला आज इन्दिरा भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से गोरखपुर एवं बस्ती मण्डल में श्रम कल्याण परिषद द्वारा चलायी जा रही योजनाओं के प्रगति कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने श्रमिकों के पुत्र-पुत्रियों के जिला, राज्य, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के खेलों में चैन होने पर आर्थिक सहायता वितरण योजना का लाभ दिलाने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि मण्डलों में आयोजित होने वाली श्रमिक आयोग की बैठकों में श्रम कल्याण परिषद की योजनाओं का भी उल्लेख किया जाना सुनिश्चित किया जाए।
श्री भराला ने प्रदेश के औद्योगिक अधिष्ठानों में बकाया पड़ी अनपेड धनराशि की माॅनीटरिंग करने तथा इस धन की प्राप्ति हेतु अपनायी जा रही प्रक्रिया पर अधिकारियों से विचार-विमर्श किया। उन्होंने अनपेड मनी की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो भी अनपेड मनी है उसको उद्योगों से प्राप्त कर परिषद के खाते में श्रमिकों के लाभार्थ जमा कराना सुनिश्चित करायें। उन्होंने महामारी काल में परिषद द्वारा प्रस्तावित तीन नयी योजनाओं (श्रीमती महादेवी वर्मा श्रमिक पुस्तक क्रय धन योजना, स्वामी विवेकानन्द धार्मिक एवं पर्यटन यात्रा योजना, मंगलाराय श्रमिक खेल पुरस्कार योजना) के संबंध में अधिकारियों से विचार-विमर्श किया।
वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान गोरखपुर व बस्ती मण्डल के उप श्रमायुक्त, सहायक श्रमायुक्त एवं श्रम प्रवर्तन अधिकारियों के साथ उप श्रम कल्याण आयुक्त तथा परिषद के सदस्यगण उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
Event Services