Uttar Pradesh

अन्नदाता किसानों के समर्थन में उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी द्वारा राजधानी लखनऊ में राजभवन घेराव

अखिल भारतीय कंाग्रेस कमेटी के आवाहन पर आज किसान अधिकार दिवस के रूप में उत्तर प्रदेश में तीन काले कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 50 दिनों से दिल्ली बार्डर पर भीषण ठण्ड और बारिश में अपनी मांगों के समर्थन में आन्दोलनरत अन्नदाता किसानों के समर्थन में उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी द्वारा राजधानी लखनऊ में राजभवन घेराव का कार्यक्रम आयोजित कर संघर्षरत किसानों की आवाज को बुलन्द किया गया। योगी सरकार की तानाशाही और दमनकारी रवैये के चलते सरकार के इशारे पर भारी पुलिस बल की मौजूदगी में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू को उनके आवास से निकलते ही कायरतापूर्ण तरीके से गिरफ्तार कर लिया गया। उनके साथ कांग्रेस विधान परिषद दल के नेता श्री दीपक सिंह, पूर्व मंत्री श्री आर0के0 चैधरी सहित सैंकड़ों कांग्रेसजनों को भी पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर इको गार्डेन भेज दिया गया।

उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डा0 उमा शंकर पाण्डेय ने बताया कि पुलिस द्वारा बलपूर्वक गिरफ्तार किये जाने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा कि मौजूदा योगी सरकार निरंकुशता की सारी हदें पार कर चुकी है। लोकतंत्र को तार-तार करने में लगी है। किसानों की मांगों को मानने के बजाय उनके हक में आवाज उठा रहे कांग्रेसजनों को गिरफ्तार करके उनके संवैधानिक अधिकारों को कुचलने का काम कर रही है। आज न सिर्फ लोकतंत्र को कुचला जा रहा है अपितु पूरे संवैधानिक प्रक्रियाओं केा बाधित करने का काम भाजपा सरकार कर रही है। आज एक चुनी हुई लोकतांत्रिक सरकार के समक्ष 50 दिनों से धरना दे रहे किसानों की आवाज को दरकिनार करके अपने चहेते पूंजीपतियों को खुश करने का काम मोदी सरकार कर रही है। तीनों काले कृषि कानून न सिर्फ किसान विरोधी हैं बल्कि किसानों और कृषि को खत्म करने के लिए है। यह कानून किसानों का जो कुछ भी है उसे अपने पूंजीपति चंद मित्रों को दिलवाने के हक में हैं।

श्री अजय कुमार लल्लू ने आगे कहा कि एक तरफ भारतीय जनता पार्टी देश भर में बड़ी-बड़ी रैलियां और सभाएं आयोजित कर रही है, उ0प्र0 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर महोत्सव का आयोजन कर रहे हैं। लेकिन खेती, किसानी और अन्नदाता के हक में जब कांग्रेस पार्टी आवाज बुलन्द करती है तो पुलिस के बल पर उनको गिरफ्तार करके न सिर्फ कांग्रेस बल्कि देश के मेहनतकश किसानों की आवाज दबाने का काम भारतीय जनता पार्टी की सरकार कर रही है। पूरी योगी सरकार सिर्फ कागजों पर किसानों के हक की बात करती है। आज न तो किसानों की आय दुगुनी हुई है और न ही उन्हें उनकी उपज का ड्यौढ़ा दाम मिल रहा है बल्कि किसानों की मंडियां और एमएसपी को एक षडयन्त्र के तहत खत्म करके पूरी खेती किसानी को बर्बाद करने का काम योगी-मोदी कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि किसान हितैषी योगी सरकार का आलम यह है कि यूपी में सरकारी गड़बड़ी की वजह से साढ़े सात लाख से अधिक किसानों को सम्मान निधि नहीं मिली है। लेकिन सरकार ने किसान आन्दोलन को रोकने के लिए नोडल अधिकारी बनाए हैं। यह भाजपा सरकारों की किसान हितैषी होने के दावे की पोल खोलती है और साबित करती है कि भाजपा किसानों की कितनी हितैषी है।

प्रवक्ता डाॅ0 उमा शंकर पाण्डेय ने बताया कि प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी के साथ गिरफ्तार होने वालों में प्रमुख रूप से उ0प्र0 कंाग्रेस के प्रभारी प्रशासन श्री दिनेश सिंह, संगठन सचिव श्री अनिल यादव, सचिव लखनऊ प्रभारी श्री रमेश कुमार शुक्ला, पिछड़ा वर्ग विभाग के चेयरमैन श्री मनोज यादव, श्रीमती ममता चैधरी, श्री पंकज तिवारी, श्री शैलेन्द्र तिवारी बबलू, श्री अनस रहमान, श्री पुष्पेन्द्र श्रीवास्तव, श्री अजय श्रीवास्तव अज्जू, श्री प्रदीप सिंघल जिलाध्यक्ष अमेठी, श्री शिव पाण्डेय, श्रीमती रफत फातिमा, श्री दिलप्रीत सिंह डीपी, श्री प्रभाकर मिश्रा, श्री प्रदीप कनौजिया, श्रीमती सुशीला शर्मा, श्रीमती शीला मिश्रा, श्री अंशू अवस्थी, श्री मुरली मनोहर, श्री जितेन्द्र पाठक, श्री आशुतोष मिश्रा, सुश्री वंदना सिंह, श्री ज्ञान प्रकाश राय, डा0 शहजाद आलम, श्री धर्मेन्द्र शुक्ला, श्री राघवेन्द्र सिंह, श्री मुन्ना लाल भारती, श्री आर्यन मिश्रा, श्रीमती राशिदा रिजवान, श्रीमती राधा पाण्डेय सहित सैंकड़ों कांग्रेसजन शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
Event Services