UP News

कलाकारों के प्रति प्रदेश सरकार की कोई नीति घोषित नहीं होने से कलाकारों में रोष

थिएटर एंड फिल्म वेलफेयर एसोसिएशन उ०प्र० मजबूरन संगठित हो करेगा बड़ा आन्दोलन

नीशू त्यागी मिडिया प्रभारी थिएटर एंड फिल्म वेलफेयर एसोसिएशन एवं अध्यक्ष महिला यूथ विंग ने संस्था के बर्लिग्टन सभागार से आज शुक्रवार 28 अगस्त को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि देश की उन्नत संस्कृति को देश-विदेश में प्रसारित करने और जन-जागृति की दिशा में रंगकर्म अहम भूमिका अदा करता है, परन्तु कोरोना काल में मार्च से “रंगकर्म को ही क्वारंटाइन” कर ऑडिटोरियम आदि सब बंद कर दिया गया है। प्रदेश सरकार की कलाकारों के प्रति कोई नीति घोषित नहीं होने से कलाकारों में रोष व्याप्त है और प्रदेश भर के रंगकर्म पोषित कलाकार ही नहीं समस्त भारत के कलाकार सरकार से उपेक्षित हैं।

इस अवसर पर रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया (अठावले) के उत्तर प्रदेश व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष करन कुमार ने कहा की हम लोग जल्द ही जिलाधिकारी लखनऊ के साथ ही साथ शासन प्रशासन एवं प्रदेश सरकार के जिम्मेदार अधिकारियो संस्कृति मंत्री, संस्कृति सचिव, संस्कृति निदेशक आदि से मिलकर यह महात्पूण प्रशन उठायेगे की जब एक-एक कर के सभी चीजे प्रदेश सरकार द्वारा खोल दी गई है तो ऐसे में बेहतर हो कि ऑडिटोरियम में भी दो गज की दूरी का पालन करवाते हुए रंगकर्म अनुष्ठान ऑडिटोरियम आदि को प्रदेश सरकार को संरक्षण देते हुए खोलना चाहिएI

थिएटर एंड फिल्म वेलफेयर एसोसिएशन के सचिव दबीर सिद्दीकी ने बताया की जल्द ही नुक्कड़ नाटक का मंचन करने को मजबूर होगे क्योकि प्रदेश के मूल रंगकर्मियों के प्रति सरकार उपेक्षित हो गई है, कलाकारों को सरकारी संरक्षण नहीं दिया जा रहा है, ऑडिटोरियम आदि सभी बंद कर दिए गये है ऐसे में प्रदेश के कलाकारों से आवाह्न किया कि सोशल मिडिया आदि अन्य माध्यम से सभी कला जगत संगठित होकर अपनी आवाज तब तक बुलंद करते रहे जब तक सरकार रंगकर्म आदि सांस्कृतिक कार्यक्रम कराए जाने की अनुमति प्रदान न करेI

किसी भी प्रकार के कवरेज के लिए संपर्क @adeventmedia:9336666601- 
अन्य खबरों के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें।
आप हमें ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं.
हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button