Health

सर्दियों में रहना है फिट, तो डाइट में ज़रूर इस्तेमाल करें ये महत्त्वपूर्ण चीजें

हम सब ये जानते हैं कि सही डाइट हमारे शरीर को काम करने के लिए ऊर्जा देती है। सर्दी के मौसम शरीर को गर्म रखने के लिए ज़्यादा एनर्जी की ज़रूरत होती है, ज़्यादा पोषक तत्वों की जिससे मेटाबॉलिज़म हेल्दी रहे। शरीर को सर्दियों के मौसम में गर्म रखने के लिए आपको पोषण से भरपूर डाइट लेने की ज़रूरत होती है। इसमें कोई शक़ नहीं कि ठंडे मौसम में गाजर हलवा और बेसन के लड्डू खाने का मज़ा ही अलग है, लेकिन इन चीज़ों को कम खाएं और फोकस पोषण से भरपूर खाने पर रखें।

सर्दियों में ज़रूर करें इन 5 मसालों को डाइट में शामिल

1. हरी सब्ज़ियों को दें डाइट में जगह

सब्ज़ी के बाज़ार में आपको तरह-तरह की हरी सब्ज़ियां मिल जाएंगी। मेथी से लेकर सरसों, ब्रोकली और चौलाई तक, आप नाम लें और वो सब्ज़ी आपको मिल जाएगी। रोज़ाना हरी पत्तेदार सब्ज़ियां खाने से आपको कई तरह के फायदे मिल सकते हैं- वज़न से लेकर दिल की बीमारी और बीपी भी कंट्रोल में रहता है। हरी सब्ज़ियां बीटा कैरोटीन और विटामिन-ए से भरपूर होती हैं। इनमें आयरन और फोलेट भी होता है, जो पर्याप्त ऑक्सीजन वहन क्षमता और स्वस्थ आरबीसी का पर्याप्त उत्पादन सुनिश्चित करते हैं।

2. जड़ें और कंद

ये पौधों की जड़ें होती हैं, जो पौधे के बढ़ने के लिए मिट्टी से पोषक तत्वों को अवशोषित करती हैं ; कुछ पौधे के लिए इन पोषक तत्वों को स्टोर भी करती हैं। इससे पता चलता है कि जड़ें पोषण से कितनी भरपूर होती हैं। इनमें स्प्रिंग अनियन, प्याज़, अदरक, हल्दी, लहसुन, चुकंदर, गाजर, शकरकंद, आलू और रतालू शामिल है।

शकरकंदी को अगर भून कर खाया जाए, तो यह आपको दिन भर के लिए भरपूर विटामिन-ए दे सकती है। गाजर में भी विटामिन-ए और बीटा कैरोटीन होता है, जो शरीर के एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है। आलू आपके खाने में पोटैशियम और स्टार्च को शामिल करता है। यह सभी चीज़ें भले ही फैट्स से भरपूर होती हैं, लेकिन सर्दियों में आपको एनर्जी देने का भी काम करेंगी।

3. साबुत अनाज

साबुत अनाज स्वस्थ कार्ब्स का एक स्रोत है, जो हमारे शरीर की प्रक्रियाओं को कुशलता से बढ़ावा देता है। सर्दियों में हमें लस मुक्त अनाज और बाजरा जैसे मकई को डाइट में निश्चित रूप से जोड़ना चाहिए। साबुत अनाज विटामिन-बी, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और आयरन, ज़िंक, तांबा, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस जैसे सूक्ष्म पोषक तत्वों का एक अच्छे स्रोत हैं। ऐसे कई अध्ययन हैं जिन्होंने साबुत अनाज और बाजरा के सेवन को मधुमेह, हृदय रोग और स्ट्रोक के कम जोखिम से जोड़ा है।

4. नट्स और बीज

मेवे एक कठोर खोल के अंदर सूखे मेवे होते हैं, जबकि बीज सिर्फ पौधों के बीज होते हैं। आमतौर पर साल भर मेवे और बीज के सेवन को अच्छा माना जाता है, इन्हें खासतौर पर सर्दियों में खाना बेहद लाभदायक हो सकता है। यह प्रोटीन से भरपूर होते हैं, जो मांस का अच्छा विकल्प साबित होते हैं। स्वाभाविक रूप से कोलेस्ट्रॉल मुक्त और फाइटोकेमिकल से भरा हुआ जो हमारे शरीर में एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है।

5. मसाले

सर्दियों में अदरक, तुलसी, इलायची, दालचीनी और लौंग जैसी ताजी जड़ी-बूटियों और मसालों की सुगंध हमारे होश उड़ा देती है। इन अद्भुत छोटे-छोटे मसालों के बिना भारतीय व्यंजन अधूरा है। गरम मसाले को सब्ज़ी, करी और चाय से लेकर मिठाइयों तक में इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद गर्म जड़ी-बूटियों और मसालों की सिफारिश करता है जैसे: दालचीनी, अदरक, काली मिर्च, हल्दी, लाल मिर्च, लाल शिमला मिर्च, जायफल, जो शरीर को गर्म रखने का काम करते हैं। दालचीनी जैसा मसाला रक्त शर्करा और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करती है। हल्दी एंटी-इंफ्लामेटरी है, जो इम्यूनिटी को बढ़ावा देने का भी काम करती है।

किसी भी प्रकार के कवरेज के लिए संपर्क @adeventmedia:9336666601- अन्य खबरों के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें। आप हमें ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं, और हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button