Health

रोजाना एक मुट्ठी मखाना खाने से मिलते हैं ये जबरदस्त लाभ

मखानों को फॉक्ट नट या कमल का बीज भी कहा जाता है। मखाने में मैग्ननेशियम, पोटाशियम, फाइबर, आयरन, जिंक आदि भरपूर मात्रा में होता है। आयुर्वेद में मखाना के बहुत सारे गुणों के बारे में विस्तार से उल्लेख किया गया है। आयुर्वेद के मुताबिक बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए मखाना एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। ये बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने का काम करता है। ये कैल्शि‍यम से भरपूर है और जोड़ों के दर्द में फायदा पहुंचाता है। इसके अलावा मखानों का सेवन उन पुरुषों के लिए भी फायदेमंद है जिनको वीर्य संबंधी समस्या होती है। मखाना को लोग स्नैक्स के रूप भी में खाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, मखाना मधुर, ठंडा प्रभाव वाला होता है। यह गर्भधारण करने में मदद पहुंचाता है, गर्भवती स्त्रियों के लिए शक्तिवर्द्धक होता है। बता दे, मखाने का सेवन कई तरह की परेशानियों से हमारे शरीर (makhane ke fayde) को बचाता है तो चलिए विस्तार से इसके बारें में जानते है…

मधुमेह

खराब जीवनशैली की वजह से मधुमेह होना एक आम बात हो गई है। समय के अभाव के कारण लोग असंतुलित भोजन को अधिक प्राथमिकता देते हैं, जिसके कारण शरीर में शर्करा का स्तर बढ़ जाता है। यह डायबिटीज का कारण बनता है। ऐसे में सालम मिश्री का चूर्ण मिलाकर मखाने की खीर का सेवन से करने से मधुमेह में लाभ मिलता है।

किडनी

मखाना रक्त प्रवाह को नियंत्रित करके किडनी को हेल्दी बनाए रखने में मदद करता है। ये स्पलीन को डिटॉक्सीफाई और साफ करते हैं। ये शरीर से सभी टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद करता है। इसके सेवन से किडनी की कार्य क्षमता बढ़ जाती है।

दिल के लिए फायदेमंद

मखाने मैग्नीशियम, प्रोटीन, कैल्शियम और कार्बोहाइड्रेट जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। मखाने में सोडियम और फैट की मात्रा भी कम होती है, जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके सेवन से हृदयाघात जैसी गंभीर समस्याओं के रोक थाम में भी सहयोग मिलता है।

दस्त पर रोक

खान-पान में बदलाव या फूड प्वाइजनिंग की वजह से कई बार दस्त लग जाते है ऐसे में मखानों का सेवन फायदा पहुंचाता है। इससे दस्त पर रोक लगती है। मखाना को घी में भूनकर खाएं। मखाने फाइबर से भरपूर होते हैं, जो पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। ये कब्ज और पाचन संबंधित समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं

लिवर को डिटॉक्सीफाई करता है

हमारा लिवर सारे कचरे को खत्म कर हमारे शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है। मखाने लिवर को ठीक से काम करने और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करते हैं।

झुर्रियों से दिलाता छुटकारा

मखाने में स्निग्ध गुण होता है। जो त्वचा में तैलीय तत्त्व बनाये रखने में सहयोग देता है, जो झुर्रियों को रोकने में मदद करता है। मखाने एंटीऑक्सीडेंट और अमीनो एसिड से भरपूर होते हैं, जो समय से पहले बूढ़ा होने से रोकते हैं। मखाने में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट त्वचा को हेल्दी और ग्लोइंग बनाए रखने में मदद करते हैं।

हड्डियों को बनाएं मजबूत

मखाने कैल्शियम से भरपूर होते हैं। कैल्शियम हड्डियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है। हड्डियों और जोड़ों को स्वस्थ रखने के लिए आप नियमित रूप से दूध में मखाने मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

वजन घटाने में मदद करता है

मखाने कोलेस्ट्रॉल और कैलोरी में कम होते हैं और इस प्रकार ये वजन बनाए रखने में मदद करते हैं।

हार्मोनल संतुलन

मखाना आपके शरीर में हार्मोनल संतुलन बनाए रखने में मदद करता है। मासिक धर्म के दौरान, ये अधिक खाने से रोकने में मदद करते हैं। ये मासिक धर्म से पहले के लक्षणों से निपटने में भी मदद करते हैं।

प्रजनन क्षमता के लिए अच्छा

मखाना हमारे शरीर में हार्मोनल संतुलन बनाए रखता है। ये महिला प्रजनन क्षमता के लिए अच्छे होते हैं। मखाने का नियमित सेवन महिला प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।

गर्मी से दिलाए राहत

गर्मी को दूर रखने में मखाने का सेवन एक अच्छा उपाय है क्योंकि मखानों की तासीर ठंडी होती है। इसका सेवन गर्मी को शांत करने का काम करता है। हालाकि, इसका सेवन किसी भी मौसम में किया जा सकता है।

स्ट्रेस दूर करने में मददगार

तनाव से ग्रसित लोगों के लिए मखाने का नियमित सेवन करना फायदेमंद साबित होता है। रात को सोने से पहले एक गिलास दूध के साथ मखाना लेने से नींद अच्छी आती है। साथ ही स्ट्रेस भी कम होता है।

सूजन को रोकता है

मखाने में ‘केम्पफेरोल’ नामक एक तत्व होता है। ये शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है। फॉक्स नट्स का नियमित इस्तेमाल सूजन को ठीक करने में मदद कर सकता है।

नपुंसकता में लाभ

मखाने का सेवन करने से पुरुषों की नपुंसकता में भी कुछ हद तक लाभ पहुँचाया जा सकता है क्योंकि इसमें वृष्य यानि अंदरूनी शक्ति बढ़ाने का गुण मौजूद है।

आपको बता दे, 100 ग्राम मखाने में 350 कैलोरी होती है। इसके अलावा इसमें 9.7% प्रोटीन, 76% कार्बोहाईड्रेट, 12.8% नमी, 0.1% हेल्दी फैट, 0.5% सोडियम, 0.9% फॉस्फोरस एंव 1.4 मिलीग्राम आयरन, कैल्शियम, अम्ल और विटामिन-वी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है।

किसी भी प्रकार के कवरेज के लिए संपर्क @adeventmedia:9336666601- अन्य खबरों के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें। आप हमें ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं, और हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button