Health

विश्व कैंसर दिवस मनाने का क्या है उद्देश्य ? जागरूकता बचा सकती है आपकी जान

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जिसके कारण दुनिया में कैंसर से हुई मौतों की गिनती में कमी नहीं आयी है। कैंसर की बीमारी से अनजान होने से लोग इस बीमारी को गंभीरता से नहीं लेते है। इस वजह से विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कैंसर के प्रति जागरूकता लाने के लिए 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस का आयोजन किया ताकि तमाम लोगो को कैंसर की बीमारी प्रति जागरूक कर से बचाया जा सके। इसके अलावा कैंसर से जो लोग पीड़ित है उनकी हिम्मत बढ़ाकर जीने की उम्मीद बढ़ाते है की वह कैंसर से लड़ सके। आज इस लेख के माध्यम से कैंसर को कम करने के बारे में विस्तार से बतलाया गया है।

भारत में कैंसर के मौजूदा हालत – भारत में कैंसर के मौजूदा हालत की बात करे तो हर 10 में से एक महिला कैंसर से पीड़ित है। इसके अलावा पुरषो में हर 7 में से एक पुरुष कैंसर का शिकार हो रहा है। इसके अलावा 20 से 29% लोग तंबाकू का अधिक सेवन करते है जिसके कारण कैंसर का शिकार बन जाते है। 

विश्व कैंसर दिवस का मुख्य उद्देश्य है अधिक से अधिक लोगो को कैंसर के बारे में बताना है। यदि लोग कैंसर के बारे में जानेंगे तो शुरुवाती कैंसर में अपना इलाज करवाएंगे ताकि कैंसर से होने वाली मृत्य के जोखिम से बच सके। इसके अलावा कैंसर के कारण लाखों लोग अपनी जान गवा देते है, ऐसे में विश्व कैंसर दिवस आयोजन का मकसद कैंसर के मृत्यु दर को कम करना होता है।

मनुष्य के शरीर में बहुत सी कोशिकाएं होती है। हालांकि समय के जरुरत के साथ कोशिकाएं बढ़ती रहती है। किंतु बिना काम के कोशिका का अनियंत्रित होकर बढ़ना किसी जोखिम को उत्पन्न करता है। ऐसी ही कोशिकाओं को कैंसर का विकास कहते है जो कोशिकाओं असमान्यता रूप से बढ़ाता है। इसमें कोशिकाएं अपना नियंत्रण कर नहीं पाती है। इस तरह कोशिकाएं अन्य अंगो की कोशिकाओं में कैंसर को फ़ैलाने लगते है। कैंसर में ऊतकों पर टिश्यू बनते है और कोशिका पर हमला करते है। इस वजह से लसिका रक्त के सहारे अन्य अंगो में फैलने लगता है। क्योंकि कैंसर कोशिका शरीर के किसी भी ऊतक को प्रभावित कर सकता है। जिस तरह कोशिका बढ़ती है वैसे ही कैंसर का खतरा बढ़ता जाता है। कुछ कोशिकाएं समूह का रुप लेकर कैंसर उत्पन्न करती है। इसे दूसरे शब्दो में ट्यूमर कहते है। ट्यूमर कैंसर व गैर कैंसर भी हो सकते है। कैंसर एक कोशिका से शुरुवात कर संपूर्ण कोशिका को प्रभावित कर सकती है

  • अगर आप कैंसर का किसी तरह का स्क्रीनिंग करवाने सोच रहे है तो सबसे पहले चिकिस्तक से बात करे आपके लिए सही क्या है। 
  • अधिक वजन बढ़ने से कैंसर का जोखिम बढ़ता है इसलिए अपने वजन को संतुलित बनाये रखने की कोशिश करे। इसके अलावा पौष्टिक आहार अधिक ले। 
  • तबांकू का सेवन कैंसर की बीमारी को उत्पन्न करता है इसके सेवन से परहेज करने जरूरत है, ताकि कैंसर से बच सके। 
  • शराब का सेवन करने से परहेज करे क्योंकि शराब कैंसर का जोखिम बढ़ाती है। 
  • व्यक्ति को शरीर को फीट रखने के लिए रोजाना अधिक नहीं तो 30 मिनट का व्यायाम या योगा करना चाहिए। 
  • स्वस्थ आहार के चयन में आपको फल व हरी सब्जिया और साबुत अनाज को शामिल करे, यह चर्बी को कम करता है। 
  • सूर्य की हानिकारक किरणे जो त्वचा कैंसर की समस्या को बढ़ाती है। धुप से बचने के लिए आपको सनक्रीम लगाकर व आंखो में  सनग्लास पहनकर बाहर निकलना चाहिए। 
  • अगर आप धूम्रपान करते है तो आज ही यह करना छोड़ दे। क्योंकि धूम्रपान फेफड़ो के कैंसर का कारण बनता है। इसके अलावा अन्य कैंसर का जोखिम उत्पन्न कर सकता है

किसी भी प्रकार के कवरेज के लिए संपर्क AdeventMedia: 9336666601

अन्य खबरों के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें।

आप हमें ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं.

हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
Event Services