Uttarakhand

उत्तराखंड: बदरीनाथ और यमुनोत्री हाईवे चौथे दिन भी बंद, खुलने में लग सकता है समय

बदरीनाथ और यमुनोत्री हाईवे रविवार को भी बंद है। यहां हाईवे खोलने का काम जारी है। यमुनोत्री हाईवे पर खनेड़ा पुल के पास रविवार को भी बंद है। यहां भी हाईवे खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं। दोनों हाईवे चार दिन से बंद पड़े हैं।

रड़ांग बैंड में करीब 50 मीटर हिस्सा ध्वस्त होने से हाईवे को सुचारू होने में समय लग सकता है। हालांकि सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) यहां हाईवे सुचारू करने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था में जुटा हुआ है। बीआरओ के अधिकारियों का कहना है कि लगभग तीन दिनों में हाईवे को सुचारू कर दिया जाएगा।

20 मई को अतिवृष्टि से रड़ांग बैंड में सड़क का 50 मीटर हिस्सा ध्वस्त हो गया था। यहां अलकनंदा से भी भू कटाव हो रहा है, जिससे जल्द हाईवे दुरुस्त करने में समय लग सकता है।

भारी बारिश होने पर पहाड़ियों से भूस्खलन होने के चलते हाईवे को भारी क्षति पहुंची है। बीआरओ के कमांडर मनीष कपिल का कहना है कि रड़ांग बैंड पर हाईवे को सुचारू करने में कम से कम तीन दिन लग सकते हैं। मौके पर पर्याप्त मात्रा में मशीनें और मैन पावर की तैनाती की गई है।

यमुनोत्री हाईवे नहीं खुलने से कई गांवों का संपर्क कटा

बीते गुरुवार को खनेड़ा पुल के पास मलबा व बोल्डर आने से बंद यमुनोत्री हाईवे रविवार को भी नहीं खुल पाया, जिससे यातायात बाधित होने के साथ यमुनोत्री धाम सहित गीठ व ओेजरी पट्टी के दर्जनों गांवों का तहसील व जिला मुख्यालय से संपर्क कटा हुआ है।

सड़क के नीचे आधा दर्जन आवासीय भवन व होटल को भी खतरा बना हुआ है। इधर निर्माण एजेंसी के परियोजना प्रबंधक कादिर अहमद का कहना है कि कठोर चट्टानी बोल्डरों को हटाने में दिक्कत हो रही है। बताया कि ड्रिल मशीन से बोल्डर तोड़े गए हैं। उन्होंने अब रविवार कल तक हाईवे खुलने की बात कही।

Related Articles

Back to top button
Event Services