Political

अपना बेटा आस्ट्रेलिया में पढ़े और गरीब का टाट

अपना बेटा आस्ट्रेलिया में पढ़े और गरीब का टाट

अपना बेटा आस्ट्रेलिया में पढ़े और गरीब का टाट

विधान परिषद में गुरुवार को वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट पर बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी

आदित्यनाथ ने विपक्ष की टोका-टोकी के बीच समाजवादी पार्टी और पूर्ववर्ती सपा सरकार पर तीखे शब्दबाण चलाए। नौकरियों में भ्रष्टाचार से लेकर अवैध बूूचड़खानों के संचालन को लेकर तो उन्होंने सपा सरकार पर हमला किया ही, बेसिक शिक्षा की दुर्दशा और मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ की उपेक्षा के लिए भी ताना मारा।

सपा सरकार में परिषदीय विद्यालयों की दुर्दशा का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सवाल किया कि कैसे समाजवादी हैं आप? कहेंगे कुछ, करेंगे कुछ। अपने बच्चे को आस्ट्रेलिया में पढ़ाएंगे और गरीब का बच्चा टाट-पट्टी पर बैठकर पढ़ेगा। कहा कि हमारी सरकार ने ऑपरेशन कायाकल्प के तहत 1.2 लाख परिषदीय स्कूलों का पुनरोद्धार कराया है।

पहले भर्ती शुरू होती थी, लोग झोला लेकर निकलते थे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बजट को युवाओं को समर्पित बताया। सपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले सरकरी नौकरी निकलती थी तो कुछ लोग झोला लेकर निकलते थे। हमारी सरकार ने 2.81 लाख युवाओं को नौकरी दी है। सपा सरकार में पुलिस भर्ती कोर्ट को रोकनी पड़ी। फिर नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन से मुखातिब हो बोले कि नेता विरोधी दल पुलिस सेवा के अफसर रहे हैं। एक सही अफसर गलत पार्टी में बैठ गया। गलत संगत में इनकी छवि प्रभावित हुई।

सपा सदस्यों को योगी ने उलाहना दिया कि मुलायम सिंह यादव आजमगढ़ से सांसद रहे और अब अखिलेश यादव हैं, लेकिन इस पिछड़े जिले का विकास हम करा रहे हैं। वहां द्वितीय विश्व युद्ध की हवाई पट्टी को हम एयरपोर्ट के रूप में विकसित करा रहे हैं। वहां एक्सप्रेसवे बनवा रहे हैं और राज्य विश्वविद्यालय भी।

सीएम योगी ने अपनी सरकार द्वारा किसानों के बकाया गन्ना मूल्य के 89000 करोड़ रुपये से ज्यादा के रिकॉर्ड भुगतान का जिक्र करते हुए किसानों की उपेक्षा के लिए सपाइयों पर तंज कसा। कहा कि चौधरी चरण सिंह के नाम पर राजनीति आप करते हैं, लेकिन बागपत में रमाला चीन मिल का विस्तार 30 साल से लटका रहा, जिसे हमने पूरा कराया। कहा कि जून तक जब तक खेत में गन्ने का एक भी डंठल रहेगा, चीनी मिलें चलती रहेंगी।

बजट पर चर्चा के दौरान योगी विपक्ष से चुटकी भी लेते रहे। पेंशन योजनाओं का जब वह जिक्र कर रहे थे तो सपा सदस्यों ने समाजवादी पेंशन का जिक्र किया। इस पर योगी ने कहा कि पेंशन तो समाजवादी होती है, न बहुजन समाजवादी पार्टी और न ही कांग्रेस की। इस पर बसपा नेता दिनेश चंद्रा ने कहा कि बहुजन समाजवादी नहीं बहुजन समाज पार्टी। योगी ने पलटवार किया कि बहुजन समाजवादी भी ठीक है क्योंकि कभी आप दोनों साथ थे। फिर कहा कि अब सपा, बसपा और कांग्रेस के लिए ‘सबका’ शब्द इस्तेमाल करता हूं।

सपा सदस्यों से चुटकी ली कि आप तो शतरुद्र प्रकाश को भी अपना नेता नहीं मानते। मुझे मालूम है कि अगली बार आप इन्हें विधान परिषद भी नहीं भेजने वाले हैं। इस पर सपा सदस्यों ने मुख्यमंत्री से कहा कि इन्हें आप बुला लीजिए तो मुख्यमंत्री ने फौरन जवाब दिया, हम तो हर अच्छे व्यक्ति को साथ रखना चाहते हैं।

 

Tags

Related Articles

Close