Share with your friends










Submit
Political

Glimpse from various rallies of The Maha Ganthbandhan team

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुश्री बहन मायावती जी ने वाराणसी में महागठबंधन के प्रत्याशी बनारस से श्रीमती शालिनी यादव, चंदौली से डाॅ0 संजय चैहान और मिर्जापुर से श्री रामचरित्र निषाद के समर्थन में आयोजित विशाल जनसभाओं को संबोधित किया।

बसपा अध्यक्ष सुश्री मायावती जी ने कहा कि जनता का उत्साह देखकर लग रहा है कि नमो-नमो की छुट्टी होने जा रही है। आजादी के बाद केन्द्र और राज्यों में कांग्रेस लंबे समय तक सत्ता में रही। लेकिन अपनी गलत नीतियों और कार्यप्रणाली के कारण कांग्रेस को सत्ता से बाहर जाना पड़ा। इसी प्रकार बीजेपी अपनी पूंजीवादी, जातिवादी, संकीर्ण, सांप्रदायिक नीतियों के चलते सत्ता से बाहर जाने वाली है। बीजेपी ने अपने चुनावी वादों का एक हिस्सा भी पूरा नहीं किया। इनका ज्यादातर समय बड़े पूजीपतियों को और भी ज्यादा मालामाल बनाने में लग रहा है। बीजेपी ने कमजोर तबके को अच्छा दिन दिखाने का वादा पूरा नहीं किया। सिर्फ बीजेपी और उनके पूंजीपति मित्रों के ही अच्छे दिन आये हैं।

सुश्री मायावती ने कहा कि बीजेपी के राज में गरीब, मुसलमान, किसान, दलित का विकास नहीं हुआ है। अभी भी दलित और अन्य पिछड़े वर्ग का सरकारी नौकरियों में आरक्षण प्रभावहीन बना हुआ है। सच्चर कमेटी की रिपोर्ट में गरीबों की हालत खराब है। बीजेपी और आरएसएस के चलते अल्पसंख्यकों पर हो रही जुल्म चरम सीमा तक पहुंच गयी है। अपरकास्ट गरीबों की हालत भी खराब है। नोटबंदी और जीएसटी को बिना प्लान के लागू किया गया, जिससे बेरोजगारी बढ़ी है। नोटबंदी से भ्रष्टाचार खत्म नहीं हुआ बल्कि रक्षा सौदे भी भ्रष्टाचार से अछूते नहीं है।

सुश्री मायावती ने कहा कि बीजेपी ने पिछले चुनाव में किये घोषणापत्र के वादे कांग्रेस के वादों की तरह अधूरे हैं। बीजेपी और कांग्र्रेस को केन्द्र की सत्ता में आने से रोकना है। छह चरणों के चुनाव में गठबंधन के पक्ष में एक तरफा वोट पड़ा है और 7वें चरण में भी महागठबंधन को ही वोट पड़ेगें।
सुश्री मायावती ने कहा कि बीजेपी की नींद उड़ गयी है। इनके लटके चेहरे बता रहे हैं कि इनकी सरकार जाने वाली है। प्रधानमंत्री जी चुनावी जनसभाओं में रोना रो रहे है कि विपक्षी दल उन पर व्यक्तिगत हमले कर रहे हैं। जबकि प्रधानमंत्री जी और भाजपा के लोगों ने महागठबंधन के लिये अपमानजनक शब्दों का प्रयोग किया। यह महापरिवर्तन लाने का महागठबंधन है। यह गठबंधन तब तक चुप नहीं बैठेगा जब तक केन्द्र और प्रदेश से बीजेपी को बाहर ना कर दें।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने कहा कि अब 7 दिनों के बाद ही देश को नया प्रधानमंत्री मिलने जा रहा है। यही नया प्रधानमंत्री नया भारत बनाएगा। प्रधानमंत्री जी से बड़ा धोखेबाज कोई नहीं। वाराणसी को क्योटो शहर बनाने का वादा किया पर वाराणसी जो प्राचीन नगर है, धर्म और संस्कृति की नगरी है, उसका स्वरूप भी बिगाड़ दिया। तमाम मंदिर तोड़ दिए गए। सदियों से सजाई गई विरासत खत्म कर दी। गंगा को निर्मल और स्वच्छ बनाने की कसम खाई थीं, वह कसम भी भुला दी। समाजवादी सरकार ने वरूणा नदी की स्वच्छता का काम शुरू किया था, भाजपा सरकार ने उसे रोक दिया। अब देश वाराणसी की ओर देख रहा है। दुनिया के प्रतिष्ठित पत्रों ने लिखा है कि मोदी दुबारा प्रधानमंत्री बने तो लोकतंत्र का खात्मा हो जाएगा। लोकतंत्र बचाने के लिए अब एक भी वोट बंटे नहीं, एक भी वोट घटे नहीं।
श्री यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री समाज को बांटने वाले है। उनका काम नफरत फैलाना है। गुजरात माडल जैसा कोई माडल नहीं है। कांग्रेस पार्टी ने आजादी के बाद देश को गलत दिशा में ले जाने का काम किया है। प्रधानमंत्री गरीबों के प्रधानमंत्री नहीं, ये देश के एक प्रतिशत संपन्न लोगों के प्रधानमंत्री है। श्री मोदी दुनिया के हर कोने में घूम आए हैं। उन्होंने डिजीटल इंडिया, मेकइन इंडिया, स्किल इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया की बातंे की पर इनका कोई जमीनी असर नहीं दिखाई पड़ा। नोटबंदी और जीएसटी ने देश की अर्थव्यवस्था चैपट की। बैंको में जमा हमारा पैसा लेकर विदेश भाग गए।
श्री अखिलेश यादव ने कहा कि देशवासियों के न अच्छे दिन आए, नहीं नौजवानों को नौकरियां मिली। गंगा में नाव चलाने वालों को भी धोखा मिला। बुनकरों की दशा बदहाल है। वाराणसी के एक बुजुर्ग भाजपा विधायक धरने पर बैठे थे तब समाजवादी सरकार ने वाराणसी को 24 घंटे बिजली सप्लाई दी, अब भाजपा के मुख्यमंत्री जी इसका श्रेय ले रहे हैं। इन मुख्यमंत्री जी के जमाने में कानून व्यवस्था की हालत खराब है। चोरियां, लूट, हत्याएं हो रही है। व्यापारी लुट रहे हैं। मुख्यमंत्री जी की ठोको नीति के चलते सांसद विधायक की पिटाई कर रहे हैं, कहीं पुलिस जनता को और जनता पुलिस को पीट रही है। देश की सीमाएं सर्वाधिक असुरक्षित है। रोज एक जवान शहीद हो रहा है।

श्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के लोग भी जान गए हैं कि अब केन्द्र की सत्ता में महागठबंधन आ रहा है। इससे वे सो नहीं पा रहे है। घबड़ाए हुए है। चुनाव में हार चेहरे पर दिखने लगी है। बंगाल की घटनाओं से भी ये घबड़ा गए है। चुनाव के पहले चरण से ही गठबंधन सब जगह जीत रहा है। यह गठबंधन जातियों का नहीं, गरीबों का, दिलों से बना है। यह टूटने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद से लड़ने का दम भरने वाले एक जवान से मुकाबला नहीं कर पाए। श्री यादव ने कहा कि यहां साइकिल तेजी से चलाएं।
राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष श्री अजीत सिंह ने अपने भाषण में कहा कि प्रधानमंत्री जी संघ के प्रचारक पहले भी थे आज भी हैं। वे सपने दिखाते है पर उन्हें जमीन पर उतारना उनके वश में नहीं। स्मार्ट सिटी, 2 करोड नौकरियां, अच्छे दिन के नारे सब हवाई साबित हुए हैं। वे अपने 5 वर्ष के काम का जिक्र नहीं करते हैं। खुद को गरीब बताते है और 70 करोड उनके कपड़ो पर खर्च आता है। उनकी 56 इंच की छाती में गरीबो, किसानो, नौजवानो, अल्पसंख्यको के लिए कोई जगह नही है। वे जीत गए तो फिर चुनाव नहीं होगें।

More share buttons
Share on Pinterest
Share with your friends










Submit
Tags

Related Articles

Close